Archive for December, 2012

दिल चाहता है

December 2, 2012

दोस्तों…..हमें लगता है कि बाबा रामदेव का भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहीम अब गलत दिशा पकड़ रहा है | वे कांग्रेस को हटाने के चक्कर में अब अन्य दूसरी भ्रष्ट पार्टियों को गले लगा रहे हैं, जिसका उदाहरण है उत्तर प्रदेश और गुजरात | पूरा भारत गवाह है कि आज की कोई भी राजनीतिक पार्टी भ्रष्टाचार के खिलाफ कोई भी कदम नहीं उठा सकती क्योंकि इससे उसके मुखिया और अधिकतर नेता जेल में होंगें | यदि ऐसा नहीं होता तो आम जनता कि आवाज़, ‘जन लोकपाल बिल’, का साथ देने के लिए एक भी पार्टी तो आगे आयी होती | उत्तर प्रदेश में तो बाबा ने एक ऐसी पार्टी को गले लगा लिया जो की भ्रष्टाचार के साथ-साथ उत्तर प्रदेश को जाति-पांति के आधार पर भी बाँट रखा है | उत्तर प्रदेश में इनके मुखिया और अन्य नेता खुलेआम भ्रष्टाचार करने की नसीहत देते सुने जाते हैं | भाजपा के अलावा किसी भी पार्टी का सहयोग करना, कांग्रेस को सहयोग करना है, क्योंकि धर्म निरपेक्षता के नाम पर ये सभी पार्टियाँ कांग्रेस के पैरों में गिर पड़ेगी | दूसरी तरफ भाजपा के लोग भी भ्रष्टाचार में आकंठ डूबे हुए हैं | अतः जब तक इन सभी पार्टियों का कोई विकल्प नहीं मिलता तब तक तथष्ठ और जिस तरह से यहाँ भ्रष्ट व्यवस्था चल रही है उसमें सतत सुधार कि कोशिश करते रहना ही उचित होता | अन्नाजी एवं किरण बेदी भी इन पार्टियों के इमानदार प्रत्याशियों को जिताने की बात करते हैं, लेकिन इससे क्या होगा ? कांग्रेस के अजय माकन या भाजपा के मोदी, जिनको की लोग इमानदार बोलते हैं, क्या उनमे इतनी क्षमता है की वे ‘जन लोकपाल बिल’ को अपनी पार्टियों के लीक से हटकर आगे बढा सकें? मुझे लगता है कि आज कि सारी पार्टियाँ अलग-अलग प्रकार की गड्ढों की तरह है जिसकी गन्दी मछलियाँ उन गड्ढों में भरे सारे पानी को गन्दा कर दी हैं, अतः इसमें कोई भी साफ़ मछली जायेगी, वो गन्दी हो जाएगी | आज हमें साफ़-सुथरा पानी से भरे एक तालाब की स्थापना करने की जरूरत है जिसमे गन्दी मछली को न आने दिया जाय और किसी तरह कोई गन्दी मछली आ भी जाती है तो उसे जल्द से जल्द मार दिया जाय | ऐसा ही नेक काम केजरिवालजी ने शुरू किया है और इसके लिए मेरा उनको अभिनन्दन के साथ बधाई एवं शुभ कामना | आज ‘जन लोकपाल बिल’ एवं व्यवस्था परिवर्तन के लिए उन्हें सहयोग करना अति-आवश्यक है | मैं इतना बड़ा आदमी नहीं हूँ की बाबा रामदेव, अन्नाजी एवं किरण बेदी सरीखे विद्वान लोगों को राय दे सकूं, फिर भी उनसे मैं यह आग्रह करता हूँ वे लोग अपनी पूरी शक्ति केजरीवालजी के पीछे लगा दें | मेरा दिल चाहता है कि बाबा रामदेव एवं अन्नाजी एक बार इस पर आत्म चिंतन करें और उसके बाद ही कोई कदम उठायें |

youtube परहिंदीमेंभाषण:

Part 1 – http://www.youtube.com/watch?v=qj6GcVJy7Ro

Part 2 – http://www.youtube.com/watch?v=ibm3EItawUw&feature=relmfu

Check here for the copy of speech to read and disseminate.

भ्रष्टाचार मिटाओ सेना के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें – https://vinay1340.wordpress.com/bhrastachar-mitao-sena/


%d bloggers like this: